जोब में खुदके दिमाग को पोजेटिव कैसे रखे



 



1) जोब  में खुदके दिमाग को पोजेटिव कैसे रखे....? 

थोड़ा मुसकिलजरूर तो है जोब में खुदके दिमाग को positive  रखना लेकिन नामुमकिन बिलकुल नहीं है। 

ये बहुत सारे लोगो का सवाल होता है और एक problem भी है। हरेक इंसान को इस प्रॉब्लम से गुजरना पड़ता है लेकिन अभी तक इसका solution  ज्यादा तर लोगो के पास नहीं होता , जब तक हम वह पे job  करते है ये परेशानी का सामना करना हमें ही पड़ता है  


Solution: जोब  में सबसे पहले negative  लोगो की negative  बातो को सुनना बंद कर दे, हो सके मुँह पे ही मना कर दे क्युकी अगर आप ऐसा नहीं करोगे तो वो आपके positive  दिमाग पर हावी हो जायेंगे और कुछ समय में न चाहते हुए भी  आप उन लोगो की तरह सोच लगोगे , लेकिन सभी के बस की बात नहीं होती है  मुँह पर बोलना हर किसी के लिए संभव नहीं होता है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है के हम बोलना नहीं चाहते है इसके बहुत से कारण हो सकते है क्युकी हमें वही पर काम करना है,   


जो आपको negative  कर रहे है वो नेगेटिव लोग हमारे senior  भी हो सकते है , तो अगर हम उनको मुह पे माना कर दे ते है  तो सायद, जोब मे हमें बहुत सरे नुकसान हो सकते है वो हमें काम को लेकर हमारा काफी नुकसान कर सकते है।अब इस तरह के लोगो को खुदकी बुराई सुनना बिलकुल पसंद नहीं होता है , तो आप उनके मुँह पर  मना मत कीजिए उनकी बाते सुन लीजिये लेकिन उनकी बातो को खुद के दिमाग पर हावी मत होने दीजिये, दूसरी बात एक और दूसरा तरीका है, वो ये है की आप उनको मुँह पे मना नहीं कर सकते है   लेकिन आप उनको कोई तीसरे इंसान को बिच  में ला कर जरूर बोल सकते है. 

1)उदाहरण: जैसे  की मेरा एक भाई है वो मुझे  बहुत सारे लोगे के बारे में negative  बाते बोलता है लेकिन  मुझे बिलकुल पसंद नहीं है किसी और की बुराई को सुनना, कोई क्या करता है उससे मुझे कोई फरक नहीं पड़ता में अपने  काम से काम रखना चाहती हु / चाहता हु। 

2)उदाहरण: जैसे की में इससे पहले एक और जगह पे job  करती थी. वह भी मेरे साथ एक इंसान था , जो दूसरे की बुराइया बहुत करता था , लेकिन मुझे ये सब बातो में बिलकुल interest  नहीं है मेने उन्हें मुँह पर मना कर दिया जिससे वो बार बार मुझे परेशान न करे, 

अब इतना सुनने के बाद थोड़ा भी समझदार इंसान होगा तो इतने में ही समझ जायेगा बाकि आप खुद ही समझदार हो, अगर वो फिर भी नहीं समझते है तो हो सके आप उनसे उतनी दुरिया बना के रखो। यानी काम से काम रखो क्युकी फिर इस तरह के लोगो को भगवन भी नहीं सुथार सकते हम तो   इंसान है फिर आप उनपे और उनकी बातो पे time खराब बिलकुल न करे। 

2)लोगो का ये भी काफी सवाल होता है की जहा हम काम करते है वह पहले से जो लोग काम कर रहे है  (senior ) वो लोग हमारे काम में काफी कमिया निकालते है, तो ऐसे में क्या करना चाहिए ? 

वैसे देखा जाये तो वो आपको सीखाने  की कोसिस करते है, अगर वो सच में सीखाने की कोसिस कर  रहे


टिप्पणियाँ

vikash ने कहा…
Nice information
Unknown ने कहा…
Very nice information
Unknown ने कहा…
Achhi jankari hai
Unknown ने कहा…
Awesome content,really appreciable.. 😇👍
Unknown ने कहा…
Good information
sarvang ने कहा…
Wahhhh...
Er SARVANG R PANDYA ने कहा…
Wha
Azhar shaikh ने कहा…
Nice information 👌👌👌
Unknown ने कहा…
Very useful information
Unknown ने कहा…
Really suach a very helpful topics nd tips
MillionsBusiness ने कहा…
Thank you for providing such information and This information really help me.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Interview me puchhe jane wale sawal

आत्माविश्वाश के साथ अपनी सारी प्रॉब्लम को दूर करे।